Hacked Android Phone को कैसे ठीक करें।

मोबाइल हैक को कैसे रोकें, Hacked Android Phone ko Kise Thik Kare. How to Fix a Hacked Android Phone in Hindi. इसके स्टेप्स को फॉलो करेंगे तो आपका फोन कभी हैक नहीं होगा और हो भी जाता है। तो, आप उपरोक्त symptoms को देखकर पता लगा सकते हैं और इसे ठीक कर सकते हैं।

31

आज smartphone सिर्फ एक फोन नहीं बल्कि हमारी पूरी दुनिया बन गया है। हमारी पूरी दुनिया 6 इंच के मोबाइल फोन में सिमट गई है। काम के दस्तावेजों से लेकर वित्तीय लेनदेन तक सब कुछ फोन पर होता है। अगर फोन 1 घंटे भी काम नहीं करता है, तो कई लोग बेचैन हो जाते हैं। Hacked Android Phone ko Kaise Thik Kare, इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में जानेंगे।

Hacked Android Phone ko Kaise Thik Kare.

अगर आप भी एक Android smartphone यूजर हैं तो आपको बेहद सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि एक मैसेज के जरिए आपका एंड्रॉयड स्मार्टफोन हैक (hacked through a message) किया जा सकता है। अब सवाल यह है कि एसएमएस के जरिए एंड्रॉइड स्मार्टफोन को कैसे हैक किया जा सकता है। How can an Android smartphone be hacked through an SMS?

आइए जानते हैं इन संदेशों की पहचान कैसे करें। security researchers के मुताबिक, इनमें से 95 फीसदी Android smartphones को मैसेज के जरिए हैक किया जा सकता है।

इस तरह आपका फोन एसएमएस के जरिए हैक किया जा सकता है

In this way your phone can be hacked through SMS

  • रिसर्चर्स के मुताबिक1 तक के एंड्रॉयड वर्जन में खामी है, जिसका फायदा उठाकर कोई भी फोन हैक किया जा सकता है. खास बात यह है कि Android 5.1 चलाने वाले टैबलेट को भी हैक किया जा सकता है।
  • दरअसल, Android phones में ” Stagefright” नाम का एक software होता है और इसकी मदद से multimedia फाइलों को खोला और चलाया जाता है। लेकिन दुख की बात यह है कि इस सॉफ्टवेयर के जरिए एमएमएस यानी मल्टीमीडिया मैसेज भी खुल जाते हैं।
  • ऐसे में अगर किसी hacker के पास आपका mobile number है तो वह आपको एमएमएस भेजकर आपका phone hack कर सकता है। ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि किसी unknown number से आए link message या MMS पर click न करें।

फोन की इसी जरूरत का कुछ cyber hackers भी फायदा उठा रहे हैं। वे फोन हैक करके लोगों की जानकारी एकत्र करते हैं और फिर financial data के लिए अपनी private information का दुरुपयोग – misuse करते हैं।

Cyber Expert पवन दुग्गल के मुताबिक दुनिया में ऐसी कोई चीज नहीं है जिसे हैक न किया जा सके. इसलिए हमें यह भी मान लेना चाहिए कि हमारा फोन भी हैक हो सकता है। That’s why we should also accept that our phone can also be hacked.

इसे भी पढ़े: मोबाइल में वायरस क्यों आते हैं और इसे कैसे बचें।

कौन सी विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए।

Special precautions should be taken.

इसलिए फोन का इस्तेमाल करते समय निम्नलिखित विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए। Special precautions should be taken while using the phone.

देखभाल करना – Take Care

आप अपने फोन में जो भी application download करते हैं, उसे secure platform से ही डाउनलोड करें। कभी भी किसी वेबसाइट से सीधे ऐप डाउनलोड न करें। किसी भी App को download करने से पहले उसके सभी नियम और शर्तों को अच्छी तरह से पढ़ और समझ लेना चाहिए।

S-सुरक्षा के लिए खड़ा है – S-Stands for Security

अगर आप कुछ खरीदना चाहते हैं या कोई financial transaction करना चाहते हैं, तो उस वेबसाइट की शुरुआत https से होनी चाहिए। S,सुरक्षा के लिए खड़ा है। यदि आप अपना financial data, जैसे bank details, debit / credit card information बिना “S” के किसी भी वेबसाइट पर डालते हैं, तो यह डेटा सुरक्षित नहीं है। कोई और इसका इस्तेमाल कर सकता है।

आभास होना – Be Aware

लोगों को साइबर सुरक्षा – cyber security के प्रति जागरूक होना होगा और साइबर सुरक्षा को जीवन शैली के रूप में अपनाना होगा। कभी भी अनजान ऐप डाउनलोड न करें। Never download unknown apps.

स्पाइवेयर अटैक से बचें – Avoid Spyware Attacks

आजकल कुछ mobile spyware आ गया है। Hackers आपके मोबाइल फोन पर मिस्ड कॉल करते हैं, जिससे आपके फोन के अंदर एक spyware आ जाता है और एक्टिवेट हो जाता है। यह स्पाइवेयर फोन के सारे डेटा को कॉपी करके भेज देता है। ऐसे में आपको बेहद सावधान रहने की जरूरत है। Be Very Careful.

इसे भी पढ़े: Artificial Intelligence क्या है और यह कैसे काम करता है?

मोबाइल हैक होने के संकेत – Signs of Mobile Hacked

इसमें आपको कुछ खास बातों पर गौर करना होगा जैसे कि नीचे दिए गए पॉइंट्स:

  • आपके फ़ोन की बैटरी जल्दी खत्म हो रही है।
  • आपका फोन हैंग हो रहा है।
  • होम स्क्रीन पर पॉप विज्ञापन आ रहे हैं।
  • भले ही आप फोन के डेटा का इस्तेमाल नहीं कर रहे हों। आपके डेटा का उपयोग किया जा रहा है
  • कुछ ऐप्स बैकग्राउंड में बार-बार चलते हैं।
  • ऑफ स्क्रीन आदि पर भी फोन का गर्म होना।
  • फोन हैक होने पर अजीब हरकत करने लगता है। सभी एप्लिकेशन अपने आप खुलने लगते हैं। डेटा का उपयोग बहुत बढ़ जाता है। ऐप अपने आप डाउनलोड होना शुरू हो जाता है। डाउनलोडिंग रुकने के बाद भी नहीं रुकेगी। फोन बहुत गर्म हो जाता है।
  • हैक किए गए फोन में पॉपअप विज्ञापनों की बाढ़ आ गई है। इंटरनेट पर सर्फिंग करते समय आपके फोन पर इतने सारे विज्ञापन दिखने लगते हैं कि आप परेशान हो जाते हैं।

अगर आपने भी अपने फोन में इनमें से किसी समस्या का सामना किया है। तो समझ लीजिए आपका फोन हैक हो गया है। इसे ठीक करने के लिए हमारे साथ बने रहें। Stay with us to Fix a Hacked Android Phone.

Hacked Android Phone को कैसे ठीक करें।

How to Fix a Hacked Android Phone

  • सबसे पहले Play store पर जाएं और लेफ्ट साइड में Three Lines पर क्लिक करें। फिर Play protect पर क्लिक करें। फिर setting icon पर क्लिक करें, यहां दो विकल्प हैं, Scan Apps with Play Protection और Harmful Apps Detection दोनों को enable करें. फिर वापस स्कैन करें यदि सब कुछ सही है तो next step पर जाएं।
  • अपने फोन की सेटिंग में जाएं और फिर सिक्योरिटी में जाएं। यह एक विकल्प है अज्ञात स्रोत स्थापना – unknown source installation इसे चालू करें यानि ON करें।
  • इसके बाद अपने फोन की सेटिंग्स में अतिरिक्त सेटिंग्स – additional settings के option पर जाएं, यहां स्टोरेज पर क्लिक करें और cache data को क्लियर करें।
  • अपने फोन से unwanted applications हटाएं जिनकी आपको आवश्यकता नहीं है।
  • किसी भी third-party website पर रजिस्टर न करें और अगर करना ही है तो किसी और डिवाइस पर करना चाहिए। फर्जी विवरण के साथ रजिस्टर करें। Register with fake details.
  • अगर यह सब करने के बाद भी आप ऊपर बताए गए लक्षणों- symptoms का सामना कर रहे हैं तो आप अपने फोन को हार्ड रीसेट कर सकते हैं Hard reset your phone. इसके लिए आप अपने फोन की सेटिंग में जाकर ऐसा कर सकते हैं। आपको बस सेटिंग्स के सर्च बार में हार्ड रीसेट टाइप करना है, जैसे ही हार्ड रीसेट का विकल्प आता है, आप अपने विवरण को सत्यापित करके इसे रीसेट कर सकते हैं।
  • आजकल हैकर्स Payload बनाकर भी Android phone hack कर लेते हैं। Payload किसी भी application के लिए बाध्य किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, इसे WhatsApp या Facebook जैसे किसी एप्लिकेशन से बाइंड करके इंस्टॉल किया जा सकता है। इसके लिए आपको किसी third-party source का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • मॉड ऐप्स – mod apps के माध्यम से आजकल हर कोई जो उस mod apps को देखता है, उसे करने की कोशिश कर रहा है। लेकिन कुछ लोग Payload को binding कर के इन एप्लिकेशन को अपलोड कर देते हैं। और जिन लोगों को कोई भी paid app for free में लेनी होती है, वे लोग इस झांसे में आ जाते हैं और अपनी personal details leaked करवा लेते हैं।
  • Android में antivirus की जरूरत नहीं है। antivirus अपने आप में एक ऐसा वायरस है जो फोन को दूसरे वायरस से बचाता है। Protects the phone. लेकिन वह खुद आपकी डिटेल्स अपने सर्वर पर अपलोड करता रहता है। इसीलिए सावधान रहें।
  • अगर आपका फोन हैक हो रहा है (phone is getting hacked) तो उस फोन का इस्तेमाल न करें। किसी और फोन से अपना काम चलाएं। अपने फोन का backup लें और उसे रख लें। अगर phone hacked हो गया है तो उसे format करें। अगर आपका सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज इससे गायब हो गया हो तो फोन की forensic examination करवाना अच्छा रहेगा।
  • अगर आप अपने मोबाइल फोन को लगातार अपडेट करते रहते हैं तो लेटेस्ट पैकेज का इस्तेमाल कर आप अपने फोन को हैकिंग से बचा सकते हैं। Protect your phone from hacking in Hindi.

इसे भी पढ़ें: Cyber Security क्या है और यह क्यों महत्वपूर्ण है?

निष्कर्ष:

अगर आप ऊपर बताए गए मोबाइल हैक को कैसे रोकें, Hacked Android Phone ko Kise Thik Kare. How to Fix a Hacked Android Phone in Hindi. इसके स्टेप्स को फॉलो करेंगे तो आपका फोन कभी हैक नहीं होगा और हो भी जाता है। तो, आप उपरोक्त symptoms को देखकर पता लगा सकते हैं और इसे ठीक कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here